Google+ Followers

Friday, 14 April 2017

शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी...

शुक्रिया ज़िन्दगी...जीने का हुनर सिखा दिया, 

कैसे बदलते हैं लोग चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया, 


अपने परायों की पहचान को आसान बना दिया, 


शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी जीने का हुनर सिखा दिया।

No comments: