Google+ Followers

Monday, 17 October 2016

ऐ समन्दर मैं तुझसे वाकिफ हूं मगर इतना बताता हूं,

वो आंखें तुझसे ज्यादा गहरी हैं जिनका मैं आशिक हूं..

No comments: