Google+ Followers

Saturday, 2 July 2016

Mohhabat

जखम तो आज भी है पर निशान चला गया...
मोहोबत तो आज भी है पर वो इंसान चला गया...

No comments: