Google+ Followers

Saturday, 2 July 2016

Jhakham

ज़ख्म हैं .......पर दिखते नहीं
मगर यूँ न समझीए.... की दुखते नहीं

No comments: